Breaking News

सीवान : परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत 442 महिलाओं एवं 10 पुरुषों ने करायी नसबंदी, 11 से 31 जुलाई तक चलाया गया परिवार नियोजन पखवाड़ा

दीपक कुमार

सीवान जिले में परिवार नियोजन पखवाड़ा के दौरान 442 महिलाओं ने बंध्याकरण कराया है. वहीं 10 पुरुषों की भी नसबंदी की गई है. जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा 11 से 31 जुलाई तक चलाया गया. बंध्याकरण कराने वाली एवं कॉपर टी लगवाने वाली महिलाओं को परिवार नियोजन के तहत प्रोत्साहन राशि भी दी गयी है. इस दौरान परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के अत्यधिक इस्तेमाल पर ज़ोर देने के साथ विभिन्न गतिविधियों के जरिए सामुदायिक जागरूकता बढ़ाने पर बल दिया गया.

यहां बता दें कि 11 जुलाई से जिलों में परिवार नियोजन जागरूकता के लिए चलायी जा रही सारथी जागरूकता रथ का संचालन 31 जुलाई तक किया गया. परिवार नियोजन के दूरगामी फ़ायदों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए जागरूकता कार्यक्रमों में तेजी लायी गई. परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के इस्तेमाल को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन पर विशेष बल दिया गया.

क्या कहते हैं अधिकारी

जिला स्वास्थ्य समिति के जिला योजना समन्वयक इमामुल होदा ने बताया कि परिवार नियोजन के दूरगामी फ़ायदों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सारथी रथ के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया गया. परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के इस्तेमाल को बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन पर विशेष बल दिया गया.

आशा कार्यकर्ता व एएनएम का कार्य सराहनीय

आशा एवं एएनएम के सहयोग से 15 साल से 49 साल तक के योग्य दंपतियों को परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित करने के साथ सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली प्रोत्साहन राशि के विषय में भी जानकारी दी गई. परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों के इस्तेमाल में गति लाने के लिए स्वास्थ्य उपकेंद्र के साथ जिला सदर अस्पताल एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कोंडोम, गर्भनिरोधक गोली एवं अंतरा इंजेक्शन की उपलब्धता भी बढ़ायी गई.

परिवार नियोजन के तहत प्रोत्साहन धनराशि

परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के इस्तेमाल में बढ़ोतरी के लिए सरकार द्वारा लाभार्थियों को प्रोत्साहन धनराशि दी गयी है.
• महिला नसबंदी के लिए 2000 रुपए
• पुरुष नसबंदी के लिए 3000 रुपए
• प्रसव के बाद महिला नसबंदी कराने पर 3000 रुपए
• प्रसव के बाद कॉपर-टी लगवाने पर 300 रुपए
• गर्भपात के बाद कॉपर-टी लगवाने पर 300 रुपए
• अंतरा सुई लगाने पर महिला को 100 रुपए

कितने लोगों ने लिया फायदा: पखवाड़ा के दौरान 452 लोगों ने परिवार नियोजन के स्थायी साधन अपनाया है. जिसमे 442 महिलाओं एवं 10 पुरुषों ने नसबंदी कराई है. इनमे 43 महिलाओं ने प्रसव के सात दिन के अन्दर बंध्याकरण करायी. जबकि परिवार नियोजन के अस्थायी साधन को अपनाते हुए 1144 महिलाओं ने कॉपर-टी लगवाया. जिसमे 599 महिलाओं ने प्रसव के 48 घंटे के अन्दर कॉपर-टी लगवाया. वहीं पखवाड़ा के दौरान 4153 माला-डी, 2701 छाया एवं 2322 आकस्मिक गर्भनिरोधक गोली (इमरजेंसी पिल) का वितरण किया गया. 1258 महिलाओं ने अंतरा की सुई (गर्भनिरोधक सुई) लिया.

x

Check Also

कैमूर : जिउतिया का स्नान करने गए तीन बच्चों व एक युवक की डूबने से मौत

विशाल कुमार कैमूर में रविवार को जिउतिया पर्व में स्नान करने के दौरान तीन बच्चों की और एक युवक की डूबकर मौत हो गयी. मृतकों ...