Breaking News

चाईबासा : धर्मांतरण को लेकर उठे विवाद को सुलझाने के लिए ग्राम सभा आयोजित

संतोष वर्मा

चाईबासा पश्चिसिंहभूम जिला के मझगांव प्रखंड अंतर्गत बलिया पोशी पंचायत के गडकेशना गांव में बीते रविवार को हुए धर्मांतरण विवाद को संज्ञान में लेते हुए जिला उपायुक्त अरवा राजकमल व पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत माहाथा के निर्देश पर मंगलवार को जगन्नाथपुर अनुमंडल पदाधिकारी स्मृता कुमारी व जगन्नाथपुर अनुमंडल पुलिस उपाधीक्षक प्रदिप उरांव के संयुक्त अध्यक्षता द्वारा गडकेशना गांव में एक ग्राम आम सभा आयोजित की गई. जिसमें गांव के सभी बुद्धिजीवि सहित दोनों समुदाय के लोग उपस्थित हुए.

ग्राम सभा में विवाद के कारण को जानते हुए दोनों पक्षों (सरना धर्म व ईसाई धर्म) के लोगों से बारी बारी से पूछताछ की गयी. पूछताछ के क्रम में सरना धर्म के लोगों ने बताया कि हम लोग आपस में विवाद नहीं चाहते हैं, लेकिन हमारे धर्म के लोगों को और छोटे-छोटे बच्चों को बहला-फुसलाकर वीडियो दिखाकर धर्मांतरण ना किया जाए. अगर, ऐसा होगा तो हम लोग विरोध करते रहेंगे, बशर्ते हम लोगों कि मांग है कि ईसाई धर्म के पास्टर (पादरी) गांव में आकर अपने धर्म का प्रचार-प्रसार ना करें.

अनुमंडल पदाधिकारी व पुलिस उपाधीक्षक ने दोनों समुदाय के विवाद में शामिल व्यक्तियों को बुलाकर आपसी समझौता करवाया और दोनों पक्षों के बीच समझौता पत्र बनवाया गया. जिसमें दोनों पक्षों ने सहमति जताते हुए इकरार किया कि भविष्य में इस तरह का आपसी मतभेद उत्पन्न नहीं करेंगे. साथ ही गांव में आने वाले पादरी का प्रवेश पर प्रतिबंध भी लगा दिया गया.

इस सबंध में जगन्नाथपुर अनुमंडल पदाधिकारी स्मृता कुमारी ने कहा कि जबरन धर्मांतरण करवाना गैरकानूनी है, जो पहले से अपना कर रह रहे है उस पर दबाव नहीं है. कोई भी अपने स्वेच्छा से कोई भी धर्म अपना सकते हैं पर नाबालिक को जबरन प्रलोभन देकर धर्मांतरण करवाना यह सरासर गलत है. विवाद को देखते हुए पास्टर को गांव में नहीं आने का सहमति बनाया गया है जिससे गांव में शांति बना रहे.

वहीं जगन्नाथपुर अनुमंडल पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप उरांव ने कहा कि ईसाई समुदाय के 8 परिवार के लोगों ने मझगाँव थाना में लिखित आवेदन दिया था कि उनके साथ सरना धर्म वाले दबाव दे रहे हैं. पर, यहां जांच के क्रम में दोनों पक्षों से पूछताछ से पता चला कि ईसाई धर्म के बाहर से दो पास्टर आकर गांव में माहौल को बिगाड़ने का कार्य कर रहे हैं. उन लोगों को गांव में नहीं आने का निर्देश दिया गया है. वे दो लोगों को चिन्हित किया गया है, उस पर पुलिस अनुसंधान कर रही है. दोनों पक्षों में आपसी समझौता करवा दिया गया है.

इस मैके पर मझगांव बीडीओ हरिवंश पंड़ित, सीओ अरुण कुमार मुंड़ा, मझगांव थाना प्रभारी अकिल अहमद, जगन्नाथपुर थाना प्रभारी मधुसूदन मोदक, मुखिया एलिन पाट पिंगुवा, जिप सदस्य राजेश पिंगुवा, मुंड़ा रूसतम पिंगुवा आदि उपस्थित थे.

x

Check Also

सीवान : हुसैनगंज बीडीओ के चालक और उसके बेटे को अपराधियों ने मारी गोली, पटना रेफर

एन के भोलू सीवान में अपराधियों का मनोबल बढ़ता जा रहा है, उनके अंदर पुलिस का खौफ खत्म होता जा रहा है और वे लगातार ...