Breaking News

चाईबासा : हार्डकोर नक्सली मोछु दस्ता के दो नक्सली हथियारों के साथ गिरफ्तार

संतोष वर्मा

चाईबासा के सारंडा जंगल से भाकपा माओवादियों की सफाये में जुटी जिला पुलिस और सीआरपीएफ को एक और बडी सफलता मिली है. पुलिस और सीआरपीएफ ने एक संयुक्त ऑपरेशन में भाकपा के दो हार्डकोर नक्सली को गिरफ्तार करने में बडी सफलता हासिल की है. कृष्णा केराई और बेडेगा सिरका को सारंडा के गुवा थाना क्षेत्र में उसके घर से गिरफ्तार किया गया है. दोनों के पास से एक स्टेनगन, एक रायफल, दो मैगजीन, पांच जिंदा कारतूस, एक मोबाइल एवं एक बाइक बरामद किया गया है.

बता दें कि भाकपा माओवादी के दोनों हार्डकोर नक्सली संदीप दस्ते के हैं और फिलहाल मोछू दस्ते के साथ काम कर रहे थे और दस्ते से छुट्टी लेकर नये लडकों को दस्ते में भर्ती करने में जुटे थे. लेकिन इसी दौरान ग्रामीणों के द्वारा बडाजामदा ओपी प्रभारी को सूचना मिली कि दोनों हार्डकोर नक्सली गुवा में है. इसके बाद जिला पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त ऑपरेशन टीम बनी और दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया. दोनों हार्डकोर नक्सली पर सारंडा के किरूबिरू, गुवा, बडा जामदा ओपी और जेटेया थानों में दर्जनों मामला दर्ज हैं.

पुलिस कप्तान इंद्रजीत महथा ने बताया की गुवा चाईबासा पुलिस को गुप्त सुचना मिली कि प्रतिबंधित संगठन भाकपा माओवादी के सक्रिय सदस्य कृष्णा केराई अपने साथी बेबेगा सिरका हथियार के साथ अपने घर दस्ता से छुट्टी लेकर आयें है. कृष्णा केराई गुवा थाना में दर्ज कई नक्सली काण्डों में वांछित है एवं सीमावर्ती थाना किरीबुरू, जेटेया एवं अन्य थानों में भी इसके बिरुद्व मामला दर्ज है. सुचना अनुसार कृष्णा केराई भाकपा माओवादी संगठन में नये लड़कों को जोड़ने के लिए उनसे संपर्क करने का प्रयास कर रहा था. उक्त सुचना के आलोक में पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा द्वारा सुचना को गंभीरता से लेते हुए चाईबासा पुलिस एवं सीआरपीएफ 197 बटालियन के पदाधिकारियों, पुलिसकर्मियों का एक संयुक्त छापामारी दल उक्त उग्रवादी सदस्य की गिरफ्तारी एवं हथियारों की बरामदगी के लिए गठित किया गया व विशेष नक्सल अभियान के तहत राकेश रंजन सिंह, थाना प्रभारी गुवा एवं रोहित कुमार सिंह ओपी प्रभारी बड़ाजामदा ओपी एवं सीआरपीएफ 197 बटालियन के डिप्टी कमांडेंट राजेश यादव व अन्य शसस्त्र बलों की टीम उक्त उग्रवादी की गिरफ्तारी व हथियार की बरामदगी के लिए बेराराईका के लिए गये. अहले सुबह बेराराईका पहुंच कर उक्त उग्रवादी के घरों को चारों ओर से घेराबंदी कर ली गई तथा विधिवत सर्च ऑपरेशन चलाया गया. कई काण्डों का वांछित सदस्य कृष्णा केराई को गिरफ्तार किया गया तथा छापामारी दल द्वारा कराई से पूछ ताछ किया गया तब अपने साथी बेडेगा सिरका के साथ स्वंय मोछु दस्ता से घर आने की बात बताई. कृष्णा केराई द्वारा बताया गया कि ये अपने साथी बेडेगा के साथ घर लौटते समय जंगल में ही अपना स्टेनगन बेडेगा सिरका का राईफल दोनों मिलकर छुपा दिया. कृष्णा केराई की निशानदेही पर दोनो हथियार बरामद कर लिया गया.

x

Check Also

चाईबासा : सड़क हादसे में रेलवे ठेकेदार कर्मी की मौत

संतोष वर्मा चाईबासा जिले के झीकपिनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाली दो अलग अलग स्थानों पर सड़क हादसा में एक रेलवे ठेकेदार का एक ...