Breaking News

चाईबासा : महज चार सौ रूपये के खातिर दोस्त ने दोस्त की ले ली जान

संतोष वर्मा

चाईबासा में उधार के रूप में दिए गए रूपये को अपने दोस्त से मांगना एक युवक को महंगा पड़ गया. उधार मांगने से नाराज महज चार सौ रूपये के लिए जिगरी दोस्त ने अपने दोस्त की जान ले ली. जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र में पड़ने वाली करंजिया पंचायत के जलडिहा गांव में एक युवक की पत्थर से कुचल कर हत्या कर दिये जाने का मामला प्रकाश में है. वहीं इस घटना की सूचना मिलने पर जगन्नाथपुर पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

बताया जाता है कि जगन्नाथपुर अनुमंडल पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप उरांव द्वारा जगन्नाथपुरथाना प्रभारी मधुसुदन मोदक के नेतृत्व में विशेष छापामारी दल का गठन किया गया. थाना प्रभारी मधुसुदन मोदक व सअनि उमेश प्रसाद के संयुक्त नेतृत्व में जगन्नाथपुर पुलिस ने 48 घंटा के अंदर हत्यारोपी को गिरफ्तार कर मामले का उदभेदन करने सफल रहा. थाना प्रभारी मधुसुदन मोदक को गुप्त सुचना मिलने पर बिते रात थाना प्रभारी मधुसुदन मोदक सअनि उमेश प्रसाद व सशस्त्र बल हत्या कांण्ड में शामिल दो लोगों को धर दबोचा. बाद में पूछ-ताछ के दौरान मामले का खुलासा हुआ कि मृतक लोकनाथ गोप से चार सौ रूपये गाड़ी में तेल भराने के लिए रमेश गोप नें उधार लिया था. इसी रूपये की मांग मृतक लोकनाथ गोप नें रमेश से पंद्रह दिन पहले करंजिया बाजार में मांगा था. जिस कारण लोकनाथ और रमेश के बीच विवाद चल रहा था. अंत में रमेश गोप ने लोकनाथ का हत्या करने के लिए अपने तीन साथियों के साथ योजना बनायी और 14 अप्रैल की रात रमेश ने अपने ही दोस्त लोकनाथ की हत्या कर दी.

इधर, जब पुलिस ने रमेश को पकड़ा तो बताया गया कि लोकनाथ गोप एवं रमेश गोप तथा लुकना सवैया उर्फ लखन सवैया मेरा दोस्त है. उन लोगों के साथ घुमने फिरने लगे. 14 अप्रेल को जलडिहा बाजार में लोकना सवैया उर्फ लखन सवैया तथा रमेश गोप एक साथ हड़िया पिया. हड़िया पीने के बाद लुकना उर्फ लखन सवैया को बोला की लोकनाथ गोप से चार से रूपये गाड़ी में तेल भरवाने के लिए लिया था. लोकनाथ गोप बराबर चार सौ रूपये के लिए परेशान किया हुआ है. एक सप्ताह पहले लोकनाथ गोप मेरे साथ मारपीट किया था. जिससे मुझे काफी बेइज्जती एहसास हुआ है, इसलिए लखन को जान से मार देना है. उसके बाद लुकना उर्फ लखन सवैया को बोला कि तुम जलडिया पुलिया के सामने झाड़ी में छिप कर रहना मैं एवं रमेश गोप दोनो मोटरसाईकिल लेकर लोकनाथ को लेकर आते है. योजना के तहत मैं व रमेश गोप मोटरसायकिल लेकर नर्रसिंगपुर गया और नर्रसींगपुर में फूलचंद गोप के घर में शादी की पार्टी चल रही थी. रमेश ने लोकनाथ को फोन कर बुलाया कि फूलचंद गोप के घर आये हुए है तथा प्रकाश गोप आया है. यह सूनकर लोकनाथ आ गया. उसके बाद रमेश गोप एवं लोकनाथ गोप शादी के पार्टी में खाना खाया और बाद में रमेश ने अपने को घर छोड़ने की बात कही. तीनो आदमि मोटरसायकिल पर बैठकर बुरू जलडिहा के लिए चल दिया. बीच  में रमेश गोप व लोकनाथ व प्रकाश बैठ कर नर्रसिंगपुर चला गया. वहीं योजना के अनुसार लुकना सवैया उर्फ लखन सवैया झाड़ी में छूपा हुआ था. बाद में लुकना ने झाड़ी से निकला और लोकनाथ को पटक कर माथे पर पत्थल से कुचकर हत्या कर दी और उस पत्थर को खेत में फेंक दिया. साथ मृतक का पेन्ट व शर्ट में लगा खुन को कपड़ा में भिगाकर पोछ दिया और उस कपड़ा को वहीं छिपा दिया, लेकिन लोकनाथ का चप्पल उसी जगह छोड़ दिया जो पुलिस को अपराधियों तक पहुंचने का सुत्रधार साबित हुआ. ज्ञात हो कि पकड़ाया अभियुक्त पूर्व में भी अपराधीक मामला में दो बार जेल जा चुका है.

x

Check Also

चाईबासा : सड़क हादसे में रेलवे ठेकेदार कर्मी की मौत

संतोष वर्मा चाईबासा जिले के झीकपिनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पड़ने वाली दो अलग अलग स्थानों पर सड़क हादसा में एक रेलवे ठेकेदार का एक ...